cg congress news
cg congress news

बेंगलुरु : कर्नाटक में कुछ विधायकों और मंत्रियों के लोकसभा चुनाव में भाग नहीं लेने के बाद कांग्रेस के लिए ‘‘जीतने योग्य’’ उम्मीदवारों की खोज मुश्किल हो गई है। कांग्रेस को दस दिन बीत गए हैं कि उसने सात सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की, लेकिन बाकी 21 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है। कांग्रेस की आठ मार्च की पहली सूची में किसी भी विधायक या मंत्री को उम्मीदवार नहीं बनाया गया था।

ALSO READ- CG NEWS: CG सरकारी कर्मियों के लिए खुशखबरी: एरियर भुगतान का आदेश जारी, 6 किस्‍तों में मिलेगा बकाया पैसा…

पार्टी सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस नेतृत्व कुछ विधायकों और मंत्रियों को चुनाव लड़ने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा है क्योंकि उन्हें कई निर्वाचन क्षेत्रों में विजयी उम्मीदवारों को चुनने में मुश्किल हो रही है। हाल ही में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और गृह मंत्री श्री परमेश्वर ने कहा कि पार्टी सात से आठ मंत्रियों को प्रत्याशी बनाने पर विचार कर रही है।

कुछ मंत्री खुद चुनाव लड़ने के बजाय अपने परिवार को प्रत्याशी बनाने पर जोर दे रहे हैं, और सूत्रों के अनुसार, पार्टी नेतृत्व को उनके परिवार को प्रत्याशी बनाने से जनता में जाने वाले संदेश को लेकर चिंता हो रही है। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि अब कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और वरिष्ठ नेता और सांसद राहुल गांधी को मंत्रियों या उनके परिवार के सदस्यों को प्रत्याशी बनाने का निर्णय लेना है।

ALSO READ- Sidhu Moose Wala COME BACK: सिद्धू मूसेवाला की मां ने बेटे को दिया जन्म, देखें तस्वीरें… 

शनिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री डी के शिवकुमार ने कहा कि उम्मीदवारों का चयन अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा शनिवार को संपन्न हुई, रविवार को ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं की जनसभा है और 19 मार्च को उम्मीदवारों पर निर्णय लेने के लिए हमारी बैठक है।’’ 19 मार्च की रात या 20 मार्च की सुबह तक सभी उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाएगी।‘’

ये खबर भी पढ़े-   ACB-EOW Raid: ACB-EOW की छापेमार कार्रवाई जारी, फरार पप्पू बंसल के घर को सील करने के बाद चस्पा किया नोटिस…

कांग्रेस कैबिनेट मंत्रियों में से एच सी महादेवप्पा को चामराजनगर, के एच मुनियप्पा को कोलार, बी. नागेन्द्र को बेल्लारी, सतीश जारकीहोली को बेलगाम, ईश्वर खांद्रे को बिदर और कृष्णा बायरे गौड़ा को बेंगलुरु उत्तर से उम्मीदवार बनाना चाहती है, सूत्रों के अनुसार। इनमें से लगभग सभी मंत्रियों ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है, जबकि कुछ ने अपने परिवार के सदस्यों के नामों का सुझाव देते हुए कहा है कि वे अपनी जीत सुनिश्चित करेंगे।

ALSO READ- ब्रेकिंग– CG-LOKSABHA CHUNAV 2024: छत्तीसगढ़ में 11 लोकसभा सीटों पर 3 चरणों में होगा मतदान, 4 जून को होगी मतगणना…

शुरुआत में, कांग्रेस ने मंत्रियों को संभावित उम्मीदवारों का चयन करने का काम सौंपा था, लेकिन शिवकुमार ने कहा कि उनसे मिली रिपोर्ट संतोषजनक नहीं थी। कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि जबकि राज्य में जनता दल (सेक्यूलर) के साथ गठबंधन में सत्ता में थी, पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में हार गई थी। राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी की संभावनाएं अभी भी निराशाजनक हैं, इसलिए कई वरिष्ठ नेता लोकसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं।

2019 के लोकसभा चुनाव में वीरप्पा मोइली, मुनियप्पा और एम मल्लिकार्जुन खरगे सहित कई प्रमुख नेताओं को हार मिली। कांग्रेस का प्रदर्शन इस चुनाव में शिवकुमार के लिए एक और महत्वपूर्ण चुनौती है, क्योंकि उन्होंने विधानसभा के कार्यकाल के बीच में सत्ता हस्तांतरण की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री बनने की अपनी इच्छा जाहिर कर दी है। भाजपा ने 20 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित किए हैं। उसने अभी तक आठ सीटों पर प्रत्याशियों का नामांकन नहीं किया है, जिनमें से तीन उसके गठबंधन के साझेदार JDS को मिल सकते हैं। कर्नाटक में 28 लोकसभा सीटें हैं। 2019 के चुनाव में, भाजपा ने पार्टी द्वारा समर्थित एक निर्दलीय उम्मीदवार को 25 सीटें जीतीं। कांग्रेस और जद(एस) ने प्रत्येक एक सीट जीती थीं।

ये खबर भी पढ़े-   Rain Alert in CG: आज भी गरज-चमक के साथ होगी जोरदार बारिश, ठंडी हवा बढ़ाएगी कंपकपी…

ALSO READ- 7th Pay Commission DA Hike Chhattisgarh : छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों को भी मिलेगा केंद्र के बराबर 50 प्रतिशत महंगाई भत्ता, DA में संशोधन के बाद आदेश जारी

LokSabha Chunav 2024: कांग्रेस को बड़ा झटका, दिग्गज नेताओं ने चुनाव लड़ने से किया इंकार, कहा- जीत की कोई संभावना ही नहीं दिख रही