Pakhanjur BJP Leader Murder Casee
Pakhanjur BJP Leader Murder Casee

BJP Leader Murder Case : छत्तीसगढ़ के कांकेर पुलिस ने बीजेपी नेता असीम राय की अंधे कत्ल की जांच की है, जिसमें दो कांग्रेसी नेता समेत ग्यारह लोग गिरफ्तार किए गए हैं। तीन प्रमुख आरोपियों ने इस मामले में बीजेपी नेता असीम राय की हत्या कर दी थी, क्योंकि मुख्य शूटर, जिसने बीजेपी नेता पर गोली चलाई थी, अभी भी फरार है, जिसे पुलिस लगातार खोज रही है।

इसमें शत्रुता के कई महत्वपूर्ण कारण थे। कांग्रेसी पार्षद विकास पाल ने असीम राय की अवैध रूप से पखांजूर में बनाई गई होटल की बिल्डिंग को तोड़ने के डर से सुपारी किलिंग की साजिश रचकर असीम राय की हत्या कर दी थी. नगर पंचायत के अध्यक्ष व कांग्रेस नेता बप्पा गांगुली ने उनके लिए लाए गए अविश्वास प्रस्ताव से उनके पद से हटने के डर से।

वास्तव में, इस मामले में तीन प्रमुख आरोपियों ने आठ लोगों को मदद दी और इन्हें 7 लाख रुपये की सुपारी दी; इसमें से एक, मुख्य शूटर विकास तालुकदार, ने एक लाख रुपये का पिस्टल खरीदा और बीते 7 जनवरी को पल्सर बाइक पर अपने एक साथी के साथ मौका देखकर बीजेपी नेता असीम राय के सिर पर गोली मारकर भाग गया।

कांकेर पुलिस ने घटनास्थल से सीसीटीवी फुटेज खंगालने और लगभग 500 से अधिक कॉल रिकॉर्ड निकालने के बाद 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक आरोपी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है. पुलिस ने इस हाई प्रोफाइल मर्डर की जांच के लिए एक एसआईटी टीम भी बनाई।

हत्या की साजिश में दो कांग्रेसी नेता भी शामिल थे CG BJP Leader Murder Case

शुक्रवार (12 जनवरी) को कांकेर जिले के एसपी दिव्यांग पटेल ने एक प्रेस वार्ता में बीजेपी नेता असीम राय की हत्या की घोषणा की। एसपी ने बताया कि बीजेपी नेता असीम राय को 7 जनवरी को रात 8 बजे पखांजूर इलाके के बाजार पारा में पीछे से गोली मार दी गई।

ये खबर भी पढ़े-   CG Board Exam 2024 Date: 1 मार्च से शुरू होगी छत्तीसगढ़ बोर्ड परीक्षा, कड़ी सुरक्षा के बीच परीक्षा केन्द्रों के लिए रवाना

बाद में असीम राय को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया, जहां वह मर गया। डॉक्टर ने बताया कि बीजेपी नेता असीम राय को शूटर ने सिर पर गोली मार दी। घटना के बाद पुलिस सभी पक्षों से मामले की जांच कर रही थी, जबकि बीजेपी के कार्यकर्ता आरोपियों को जल्दी गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे।

पूछताछ में पूरा षड्यंत्र सामने आया

CG BJP Leader Murder Case

SP ने इस उच्च प्रोफाइल मर्डर की जांच के लिए 18 सदस्यीय SIT टीम बनाई। बाद में टीम ने घटनास्थल बाजार पारा का सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ 500 से अधिक कॉल रेकॉर्ड निकाले. पुलिस ने दो अज्ञात हमलावरों में से एक को पखांजूर निवासी विकास तालुकदार बताया, जिसे मुखबिर ने नीलरतन मंडल में अक्सर घूमते देखा है।

नीलरतन मंडल को पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान, उसने बताया कि पखांजूर निवासी मंडल मेडिकल के प्रोपराईटर सोमेंद्र मंडल, सुरजीत और रिपन ने उससे मुलाकात कर बताया कि कांग्रेस नेता व नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली, कांग्रेसी पार्षद विकास पाल और व्यापारी जितेंद्र बैरागी मिलकर बीजेपी नेता असीम राय की हत्या करवाना चाहते हैं।

ये हत्या के कारण थे

CG BJP Leader Murder Case

नीलरतन ने बीजेपी नेता असीम राय की हत्या करने के लिए सोमेंद्र मंडल से मुलाकात की और उनके मौसेरे भाई शार्प शूटर विकास तालुकदार और जयंत विश्वास को 7 लाख रुपये में बीजेपी नेता की हत्या करने का ठेका लिया. सोमेंद्र मंडल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता और नगर पंचायत अध्यक्ष ने 3 दिसंबर 2023

ये खबर भी पढ़े-   राजिम कुंभ कल्प की शुरूआत आज से

1 लाख रुपये का पिस्टल

CG BJP Leader Murder Case

साथ ही, पखांजूर निवासी जितेंद्र बैरागी को बीजेपी नेता असीम राय से पुरानी रंजिश थी, इसलिए बप्पा गांगुली, विकास पाल और जितेंद्र बैरागी ने मिलकर सोमेंद्र मंडल को बीजेपी नेता की हत्या करने का आदेश दिया। बप्पा गांगुली और विकास पाल ने हत्या के लिए धन तैयार किया, और जितेंद्र बैरागी को मृतकों की रेकी करने की जिम्मेदारी दी गई।

जितेंद्र बैरागी ने अपने साथी तपन मंडल और समीत मांझी के साथ मिलकर मृतक की गतिविधियों की रेकी की; बप्पा गांगुली और विकास पाल ने सोमेंद्र मंडल को 7 लाख रुपये भेजे, जिसमें से लगभग 1 लाख रुपये में पिस्टल खरीदा गया। विकास तालुकदार और गोपी दास ने फिर घटना को अंजाम दिया।

अब तक पुलिस ने 3 लाख 50 हजार रुपये बरामद कर लिए हैं

CG BJP Leader Murder Case

विकास तालुकदार ने असीम राय पर पिस्टल से गोली चलाई, जब गोपी दास बाइक चला रहा था। एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि बीजेपी नेता असीम राय की हत्या में पल्सर बाइक चलाने वाले आरोपी गोपीदास को उसके घर में गिरफ्तार कर लिया गया. उसके पास से 3 लाख रुपये की नकदी और हत्या में प्रयुक्त पल्सर बाइक बरामद की गई।

विकास तालुकदार और आरोपी गोपीदास ने बीजेपी नेता की हत्या करने का दावा किया. पुलिस ने आरोपी नीलरतन मंडल से भी 50 हजार रुपये बरामद किए, जिससे कुल 3 लाख 50 हजार रुपये पुलिस ने बरामद किए हैं। लेकिन पुलिस लगातार मुख्य शूटर विकास की तलाश में है।

गृहमंत्री ने परिवार का भरोसा जगाया

बीजेपी नेता असीम राय की हत्या के बाद पूरे कांकेर जिले में गहमा गहमी का माहौल था. बीजेपी कार्यकर्ता लगातार आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए नगर बंद और चक्का जाम कर रहे थे. वन मंत्री केदार कश्यप, कांकेर के सांसद मनोज मंडावी और बीजेपी के कई बड़े नेता ने असीम राय के अंतिम संस्कार में पहुंचे।

ये खबर भी पढ़े-   iPhone 14 Discount offer: iPhone 14 की कीमत में बड़ी कटौती… इस साइट पर मिल रहा बंपर डिस्काउंट

गृहमंत्री विजय शर्मा ने भी असीम राय के परिजनों से पखांजूर में मुलाकात की थी और उन्हें जल्द से जल्द आरोपियों को पकड़ने का भरोसा दिलाया था. घटना के पांच दिन बाद पुलिस ने 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन जिले के एसपी ने मुख्य शूटर विकास तालुकदार को जल्द गिरफ्तार करने का दावा किया।

CG BJP Leader Murder Case: BJP नेता असीम राय की हत्या की गुत्थी सुलझी, 11 आरोपी गिरफ्तार, शूटर अभी भी फरार,पीछे से सिर पर मारी थी गोली